Blogroll

Dosti ka rishta shayari

खुशियों पर फिजाओं का पहरा है
ना जाने किस उम्मीद पर दिल ठहरा है
तेरी आँखों से झलकते  दर्द की कसम
ये दोस्ती का रिश्ता प्यार से भी गहरा है.........
============================
Khushiyon par fizaon ka pahra hai 
na jane kis ummeed par dil thahra hai 
teri aankhon se jhalkate dard ki kasam 
ye dosti ka rishta pyar se bhi gahra hai........

==============================
Read Also                                       Download

0 comments:

Post a Comment